India is the sixth largest economy in the world, overtaking France

GDP (सकल घरेलू उत्पाद) क्या है?

व्यापार

India is the sixth largest economy in the world, overtaking France

जीडीपी किसी दिए गए वर्ष में देश में उत्पादित सभी अंतिम सामानों और सेवाओं का कुल बाजार मूल्य है। सकल घरेलू उत्पाद (GDP) या जीडीपी या सकल घरेलू आय (GDI), एक अर्थव्यवस्था के आर्थिक प्रदर्शन का एक बुनियादी माप है, यह एक वर्ष में एक राष्ट्र की सीमा के भीतर सभी अंतिम माल और सेवाओ का बाजार मूल्य है।

GDP (सकल घरेलू उत्पाद) को तीन प्रकार से परिभाषित किया जा सकता है, जिनमें से सभी अवधारणात्मक रूप से समान हैं। पहला, यह एक निश्चित समय अवधि में (आम तौर पर 365 दिन का एक वर्ष) एक देश के भीतर उत्पादित सभी अंतिम माल और सेवाओ के लिए किये गए कुल व्यय के बराबर है। दूसरा, यह एक देश के भीतर एक अवधि में सभी उद्योगों के द्वारा उत्पादन की प्रत्येक अवस्था (मध्यवर्ती चरण) पर कुल वर्धित मूल्य और उत्पादों पर सब्सिडी रहित कर के योग के बराबर है। तीसरा, यह एक अवधि में देश में उत्पादन के द्वारा उत्पन्न आय के योग के बराबर है- अर्थात कर्मचारियों की क्षतिपूर्ति की राशि, उत्पादन पर कर औरसब्सिडी रहित आयात और सकल परिचालन अधिशेष (या लाभ)

GDP (सकल घरेलू उत्पाद) के मापन और मात्र निर्धारण का सबसे आम तरीका है खर्च या व्यय विधि (expenditure method):

GDP (सकल घरेलू उत्पाद) = उपभोग + सकल निवेश + सरकारी खर्च + (निर्यात – आयात), या,
GDP = C + I + G + (X − M).

GDP (सकल घरेलू उत्पाद) का मापन:

प्रत्येक चर C (उपभोग), I (निवेश), G (सरकारी व्यय) और X − M (शुद्ध निर्यात) (जहाँ GDP = C + I + G + (X − M) जैसा कि ऊपर दिया गया है)

(ध्यान दें: *’सकल घरेलू उत्पाद (GDP)’ को एक GDP लेखाचित्र के सन्दर्भ में Y के द्वारा दर्शाया जाता है।

C (उपभोग) अर्थव्यवस्था में निजी उपभोग है। इसमें अधिकांश व्यक्तिगत घरेलू व्यय जैसे भोजन, किराया, चिकित्सा व्यय और इस तरह के अन्य व्यय शामिल हैं, लेकिन नया घर इसमें शामिल नहीं हैं।
I (निवेश) को व्यवसाय या घर के द्वारा पूंजी के रूप में लगाये जाने वाले निवेश के रूप में परिभाषित किया जाता है। एक व्यवसाय के द्वारा निवेश के उदाहरणों में शामिल हैं एक नयी खान का निर्माण कार्य, एक सॉफ्टवेयर को खरीदना, या एक फैक्ट्री के लिए एक मशीनरी या उपकरण खरीदना.
एक घर के द्वारा (सरकार नहीं) नए आवास पर व्यय करना भी निवेश में शामिल हैं। इसके बोलचाल के अर्थ के विपरीत, GDP (सकल घरेलू उत्पाए) में ‘निवेश’ का अर्थ वित्तीय उत्पादों के क्रय से नहीं है। वित्तीय उत्पादों के क्रय को ‘बचत’ के रूप में वर्गीकृत किया जाता है, निवेश के रूप में नहीं। विभेद (सिद्धांत में) स्पष्ट है: यदि धन को माल या सेवाओ में बदला जाता है, यह निवेश है ; लेकिन, यदि आप एक बोंड या स्टोक का एक शेयर खरीदते हैं, यह हस्तांतरण भुगतान GDP (सकल घरेलू उत्पाद) से अलग कर दिया जाता है।

क्योंकि स्टॉक और बांड वित्तीय पूँजी को प्रभावित करते हैं, जो बदले में उत्पादन और बिक्री को प्रभावित करती है, जो निवेश को प्रभावित करते है।
तो स्टॉक और बांड परोक्ष रूप से GDP (सकल घरेलू उत्पाद) को प्रभावित करते हैं। हालाँकि ऐसे क्रय को सामान्य भाषा में निवेश ही कहा जाता है, कुल आर्थिक दृष्टिकोण से यह केवल अनुबंधों का विनिमय है और वास्तविक उत्पादन या GDP (सकल घरेलू उत्पाद) का हिस्सा नहीं है।

G (सरकारी व्यय) अंतिम माल और सेवाओं सरकारी व्यय का योग है। इसमें सरकारी कर्मचारियों का वेतन, सेना के लिए हथियारों की खरीद और सरकार के द्वारा निवेश व्यय शामिल है।
इसमें कोई हस्तांतरण भुगतान जैसे सामाजिक सुरक्षा या बेरोजगारी के लाभ शामिल नहीं हैं।

X (निर्यात) सकल निर्यात है। GDP (सकल घरेलू उत्पाद) वह राशि है जो एक देश उत्पादन करता है। इसमें अन्य राष्ट्रों के उपभोग के लिए तैयार किया गया माल और सेवाएं भी शामिल हैं, इसलिए निर्यात को जोड़ा जाता है।
M (आयात) सकल आयात है। आयात को घटाया जाता है चूँकि आयात की गई वस्तुओं को G, I, या C, पदों में शामिल किया जाएगा और इन्हें विदेशी आपूर्ति को घरेलू आपूर्ति के रूप में गणना करने से बचने के लिए घटाया जाता है।

GDP (सकल घरेलू उत्पाद) घटक चर के उदाहरण:

C, I, G और NX के उदाहरण (शुद्ध निर्यात) : यदि आप अपने होटल के नवीनीकरण के लिए धन खर्च करते हैं, ताकि अधिभोग की दरों में वृद्धि हो, तो यह निजी निवेश है, लेकिन यदि आप ऐसा ही करने के लिए एक संघ में शेयर खरीदते हैं ता यह बचत है।

GDP (सकल घरेलु उत्पाद) के मापन के दौरान पहले वाला का उपयोग किया जाता है (I में), बाद वाले का नहीं।

लेकिन, जब संघ नवीकरण पर अपने स्वयं के खर्च करता है, तब इस खर्च को GDP (सकल घरेलू उत्पाद) में शामिल किया जाएगा.

उदाहरण के लिए, यदि एक होटल निजी घर है, तब नवीनीकरण व्यय को उपभोग (C) माना जाएगा, लेकिन यदि एक सरकारी एजेंसी होटल को नागरिक सेवाओ के एक कार्यालय में बदल रही है, तो नवीनीकरण व्यय को सार्वजानिक क्षेत्र व्यय (G) का एक भाग माना जाएगा.

यदि नवीनीकरण में विदेश से एक झूमर की खरीद शामिल है, तो व्यय की गणना भी आयात की वृद्धि के रूप में की जाती है, ताकि NX का मान गिर जाए और कुल GDP क्रय के द्वारा प्रभावित होता है।

(यह इस तथ्य पर प्रकाश डालता है कि GDP, कुल उपभोग या व्यय के बजाय घरेलू उत्पादन को मापने के लिए है।

व्यय वास्तव में उत्पादन का आकलन करने के लिए एक सुविधाजनक तरीका है।)

यदि एक घरेलू निर्माता को एक विदेशी होटल के लिए झूमर बनाने के लिए भुगतान किया जाता है, तो स्थिति विपरीत होगी और भुगतान की गणना NX में की जाएगी (धनात्मक रूप से एक निर्यात के रूप में). फिर से, GDP (सकल घरेलू उत्पाद) व्यय के माध्यम से उत्पादन का मापन करता है; यदि उत्पन्न झूमर को डोमेस्टिक रूप से ख़रीदा गया है, तो इसे GDP आंकडों (C या I में) में शामिल किया गया होगा, जब एक उपभोक्ता या व्यापर के द्वारा इसे ख़रीदा गया है, लेकिन क्योंकि इसका निर्यात किया गया था तो घरेलू रूप से उत्पन्न राशि को देने के लिए घरेलू रूप से उपभोग की गई राशि को “ठीक” करना जरुरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *