व्यापार

उतार-चढ़ाव के बीच बढ़त के साथ बंद हुआ बाजार, सेंसेक्स 692 अंक और निफ्टी 190 पॉइंट ऊपर चढ़कर बंद

मुंबई.शेयर बाजार मंगलवार को 1414 अंकों की बढ़त के साथ खुले। सेंसेक्स 5.58% या 1450.71 अंक और निफ्टी 4.91% या 373.35 पॉइंट ऊपर खुला। शुरुआती 45 मिनट के बाद बाजार में हल्का उतार-चढ़ाव का दौर शुरू हो गया। 35 मिनट के बाद बाजार फिर ऊपर चढ़ने लगा, जो बाजार के बंद होनेतक बढ़त में रहा।सेंसेक्स ने 692.79 अंक या2.67% की बढ़त के साथ 26,674.03 पर और निफ्टी ने 190.80 अंक या2.51% की बढ़त के साथ 7,801.05पर कारोबार खत्म किया। इससे पहले, सोमवार को कारोबार केअंत में सेंसेक्स 3934.72 अंक गिरकर 25,981.24 पर और निफ्टी 1,135.20पॉइंट नीचे 7,610.25पर बंद हुआ था। यह सेंसेक्स के इतिहास की सबसे बड़ी गिरावट है।

बाजार में बढ़त के प्रमुख कारण

  • अर्थव्यवस्था को सहारा के देने के लिए अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने असीमित बॉन्ड खरीद कार्यक्रम की घोषणा की। विशेषज्ञों के मुताबिक, अमेरिका में मांग बढ़ने की संभावना से एशिया में निवेशकों की भावनाओं में सुधार हुआ। वॉल स्ट्रीट और अन्य शेयर बाजार के लिए यह व्यापक पैकेज अभूतपूर्व है और यह संदेश है कि आर्थिक संकट को कम करने के लिए दुनिया का सबसे बड़ा केंद्रीय बैंक जो बन पड़ेगा, करेगा। अन्य केंद्रीय बैंकों से ऋण और वित्तीय बाजारों के तनाव को कम करने के लिए ऐसे साहसिक उपायों की उम्मीद है।
  • वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोनावायरस फैलने के कारण होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए सरकार की तैयारियों की जानकारी दी। इनकम टैक्स, जीएसटी फाइलिंग जैसी कई बातों में राहत दी गई। पैन-आधार कार्ड को भी लिंक करने की तारीख बढ़ाई गई। छोटे उद्योगों को राहत के लिए कई घोषणाएं की गई। विवाद से विश्वास स्कीम को भी बढ़ाकर 30 जून तक किया गया।

बीएसई पर करीब 55 फीसदी कंपनियों के शेयरों में गिरावट रही

  • बीएसई का मार्केट कैप 103 लाख करोड़ रुपए रहा
  • 2,413 कंपनियों के शेयरों में ट्रेडिंग हुई। इसमें 927 कंपनियों के शेयर बढ़त में और 1,334 कंपनियों के शेयर में गिरावट रही
  • 10 कंपनियों के शेयर 1 साल के उच्च स्तर और 1,081 कंपनियों के शेयर एक साल के निम्न स्तर पर रहे
  • 83 कंपनियों के शेयर में अपर सर्किट और 469 कंपनियों के शेयर में लोअर सर्किट लगा

रुपया 26 पैसे की बढ़त के साथ बंद
दिनभर उतार-चढ़ाव के बाद रुपया मजबूती के साथ बंद हुआ। रुपया बढ़त के साथ खुला लेकिन, कारोबार के दौरान गिरावट में आ गया था। हालांकि, बंद भाव 26 पैसे बढ़कर 75.94 रहा। सोमवार को 76.20 पर बंद हुआ था।

बीएसई बैंकिंग सेक्टर का प्रदर्शन सुधरा

सोमवार की तुलना में आज बैंकिंग सेक्टर की हालत में सुधार रहा। इसमें 6% तक की बढ़त देखने को मिली। आरबीएल बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के शेयरों में बढ़त देखने को मिली। इससे पहले, सोमवार को बैंकिंग सेक्टर के शेयरों में 28.01% तक गिरावट दर्ज की गई थी।

बैंक बढ़त (%)
RBL बैंक

9.31%

ICICI बैंक 5.48%
कोटक बैंक 6.60%
SBI बैंक 1.90%
HDFC बैंक 0.19%

सोमवार को डाउ जोंस 3%, एसएंडपी 2.93% और नैस्डैक 0.27% नीचे रहे
शुक्रवार को गिरावट के साथ बंद हुए अमेरिकी बाजारों में सोमवार को भी नीचे बंद हुए। डाउ जोंस 3.04% या 582.05 अंक नीचे 18,591.90 पर बंद हुआ। इसी तरह, नैस्डैक में 0.27% और एसएंडपी में 2.93% की गिरावट आई। नैस्डैक 18.84 अंक नीचे 6,860.67 पर बंद हुआ। एसएंडपी 67.52 पॉइंट नीचे 2,237.40 पर पहुंच गया। सोमवार को डाउ जोंस 317 अंकों की गिरावट के साथ खुला। इसी तरह अमेरिका के दूसरे बाजार नैस्डैक कंपोजिट 25 अंक और एसएंडपी 32 पॉइंट नीचे खुले। बाजार खुलते समय डाउ जोंस 18856, नैस्डैक 6853 और एसएंडपी 2272 पर कारोबार कर रहे थे। कारोबार के दो घंटे के अंदर 9 बजे रात में (भारतीय समयनुसार) तक डाउ 777 अंकों की गिरावट के साथ 18396 पर पहुंच गया था।

ऐतिहासिक उच्च स्तर पर पहुंचा इंडिया वालैटिलिटी इंडेक्स
इस बीच बाजार में जोखिम के स्तर को बताने वाला सूचकांक इंडिया वोलैटिलिटी इंडेक्स इंडिया वीआईएक्स सोमवार को अपने जीवनकाल के उच्चतम स्तर तक पहुंच गया। इसने 73.36 का ऊपरी स्तर छूआ, जो इसके जीवनकाल का उच्चतम स्तर है। हालांकि शाम करीब चार बजे यह 7 फीसदी से ज्यादा उछलकर 71.98 पर था। गुरुवार 19 मार्च से यह 70 के स्तर से ऊपर चल रहा है। इंडिया वीआईएक्स का आंकड़ा यह बताता है कि बाजार में अगले 30 दिनों में कितने फीसदी की अस्थिरता दिख सकती है। यह इंडेक्स निफ्टी इंडेक्स ऑप्शन प्राइस पर आधाारित होता है। इंडिया वीआईएक्स इससे पहले 19 मई 2009 को 56.07 के ऊपरी स्तर पर पहुंचा था। यह वह समय था जब पूरी दुनिया वैश्विक आर्थिक संकट से गुजर रही थी और इसके कारण पूरी दुनिया के बाजारों में भारी गिरावट दर्ज की गई थी।

इंडसइंड बैंक के शेयर 30% तक नीचे गए
रोमेश सोबती इंडसइंड बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ के पद से रिटायर हो गए। जिसके बाद बैंक के शेयर आज मॉर्निंग ट्रेडिंग के दौरान 30 प्रतिशत तक डाउन हो गए। बैंक के शेयर 29.99 प्रतिशत की गिरावट के साथ 235.60 रुपए तक पहुंच गए थे। ये बैंक के शेयर का 52 हफ्ते यानी पिछले 1 साल के दौरान सबसे निचला स्तर था।

शेयर बाजार में दिनभर आए उतार-चढ़ाव को देखने के लिए लाइव अपडेट्स पर क्लिक करें।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

BSE NSE Sensex Today | Stock Market Latest Update: March 24 Share Market, Trade BSE, Nifty, Sensex Live News Updates

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *