देश

दक्षिण अफ्रीका v/s इंग्लैंड : जेसन-रूट के बाद मॉर्गन-स्टोक्स के भी अर्धशतक

  • इंग्लैंड के जेसन रॉय 54, जो रूट 51 और मॉर्गन 57 रन बनाकर आउट हुए
  • दक्षिण अफ्रीका के डेल स्टेन अभी पूरी तरह स्वस्थ नहीं, वे इस मैच में नहीं खेल रहे

लंदन. वनडे वर्ल्ड कप का पहला मुकाबला इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच गुरुवार को यहां के ओवल में खेला जा रहा है। पहले बल्लेबाजी कर रही इंग्लैंड के 4 विकेट गिर चुके हैं। बेन स्टोक्स और जोस बटलर क्रीज पर हैं। दक्षिण अफ्रीका के इमरान ताहिर ने मैच की दूसरी ही गेंद पर जॉनी बेयरस्टो को विकेट के पीछे क्विंटन डिकॉक को कैच आउट करा दिया। इसके बाद जेसन रॉय और जो रूट ने टीम के स्कोर को 100 रन के पार पहुंचाया।

जेसन ने 7 चौके की मदद से 51 गेंद पर अपना अर्धशतक पूरा किया। वहीं, रूट ने 5 चौके की मदद से 56 गेंद पर अपना अर्धशतक पूरा किया। रॉय 54 और रूट 51 रन बनाकर आउट हुए। दोनों ने आउट होने से पहले दूसरे विकेट के लिए 106 रन की साझेदारी की। इयॉन मॉर्गन 57 रन बनाकर पवेलियन लौटे। मॉर्गन ने बेन स्टोक्स के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 106 गेंद पर 106 रन की साझेदारी की।

ताहिर वर्ल्ड कप में पहला ओवर फेंकने वाले पहले स्पिनर

ताहिर वर्ल्ड कप के 44 साल के इतिहास में पहली गेंद फेंकने वाले दुनिया के पहले स्पिनर हैं। उनसे पहले किसी भी स्पिनर ने वर्ल्ड कप में पहली गेंद नहीं फेंकी थी। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया। इंग्लैंड के जोफ्रा आर्चर इस मैच से वर्ल्ड कप में अपना डेब्यू करेंगे। वहीं, दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन अभी पूरी तरह स्वस्थ नहीं हैं। उनका बाहर बैठना पड़ा। क्रिस मॉरिस भी इस मैच में नहीं खेल पाए।

भारत के मदन लाल ने वर्ल्ड कप में पहली गेंद फेंकी थी

साल गेंदबाज देश
1975 मदन लाल भारत
1979 एंडी राबर्ट्स वेस्टइंडीज
1983 रिचर्ड हेडली न्यूजीलैंड
1987 विनोथेन जॉन न्यूजीलैंड
1992 क्रैग मैकडरमॉट ऑस्ट्रेलिया
1996 डोमिनिक कॉर्क इंग्लैंड
1999 डॉरेन गफ इंग्लैंड
2003 शॉन पोलाक दक्षिण अफ्रीका
2007 उमर गुल पाकिस्तान
2011 शफीउल इस्लाम बांग्लादेश
2015 नुआन कुलाशेखरा श्रीलंका
2019 इमरान ताहिर दक्षिण अफ्रीका

इंग्लैंड पिछले 1 साल में घरेलू मैदान पर 13 में से 11 मैच जीती

इस बार इंग्लैंड की टीम खिताब की तगड़ी दावेदार मानी जा रही है। पिछले एक साल की बात करें तो उसने 25 में 17 वनडे में जीत हासिल की है, जबकि 5 में उसे हार का सामना करना पड़ा है। तीन मैच के नतीजे नहीं निकले। इस दौरान उसने घरेलू मैदान पर 13 वनडे खेले। इनमें से उसने 11 में जीत हासिल की और एक मैच हारा। एक मैच बेनतीजा रहा था।

दक्षिण अफ्रीका का भी रिकॉर्ड बेहतर है। उसने पिछले एक साल में 21 में से 16 वनडे जीते हैं, जबकि 5 में उसे हार मिली है। इस दौरान विदेश में भी उसका प्रदर्शन बेहतर रहा है। उसने 8 में से 5 वनडे में जीत हासिल की है। हालांकि, इस मैदान पर उसका प्रदर्शन निराशाजनक रहा है।

ओवल में दक्षिण अफ्रीका ने 9 में से तीन मैच ही जीते
दक्षिण अफ्रीका ने ओवल में अब तक 9 वनडे खेले हैं। इनमें से उसने 3 में जीत हासिल की है, जबकि 6 में हार झेलनी पड़ी है। उसने इस मैदान पर वर्ल्ड कप का अब तक एक मैच 22 मई 1999 खेला था। तब उसने इंग्लैंड को 122 रन से हराया था।

दोनों टीमें :

इंग्लैंड : इयॉन मॉर्गन (कप्तान), जेसन रॉय, जॉनी बेयरस्टो, जो रूट, बेन स्टोक्स, जोस बटलर (विकेटकीपर), मोइन अली, क्रिस वोक्स, आदिल रशीद, जोफ्रा आर्चर, लियाम प्लंकेट।
दक्षिण अफ्रीका : फाफ डुप्लेसिस (कप्तान), हाशिम अमला, क्विंटन डीकॉक (विकेटकीपर), एडेन मार्कराम, रसी वान डर डुसेन, जेपी डुमिनी, एंडिले फेहलुकवायो, ड्वाइन प्रिटोरियस, कगिसो रबाडा, लुंगी एंगिडी, इमरान ताहिर।

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *