देश

बफे ने बिटकॉइन को जहर बताया था, अब क्रिप्टोकरंसी के फाउंडर के साथ खाना खाएंगे

  • क्रिप्टोकरंसी ट्रॉनिक्स के फाउंडर जस्टिन सन ने वॉरेन बफे के साथ लंच की बोली जीती
  • बीते शुक्रवार को बोली प्रक्रिया पूरी हुई, सन की बोली रिकॉर्ड 32 करोड़ रुपए की थी
  • बफे निवेश से मुनाफा कमाने के लिए मशहूर लेकिन क्रिप्टोकरंसी में भरोसा नहीं करते

ओमाहा (यूएस). मशहूर निवेशक वॉरेन बफे के साथ लंच के लिए 45.7 लाख डॉलर (32 करोड़ रुपए) की बोली लगाने वाले का नाम सामने आ गया है। क्रिप्टोकरंसी ट्रॉनिक्स (ट्रॉन) के फाउंडर जस्टिन सन (28) ने यह बोली जीती थी। सन ने सोमवार को ट्वीट कर खुद यह जानकारी दी। खास बात ये है कि बफे क्रिप्टोकरंसी में भरोसा नहीं करते। वे बिटकॉइन को चूहे मारने की दवा से भी खतरनाक और झांसा देने वाला बता चुके हैं। लेकिन, अब उन्हें एक क्रिप्टोकरंसी के फाउंडर के साथ खाना खाना पड़ेगा। 

सन क्रिप्टोकरंसी इंडस्ट्री के अन्य लोगों को भी बुलाएंगे

सन ने कहा- मुझे भरोसा है कि सही बातचीत और समझ से क्रिप्टोकरंसी के प्रति बफे की सोच बदल जाएगी। वे निवेश की रणनीति के तहत क्रिप्टोकरंसी को भी अपने पोर्टफोलियो में शामिल कर सकते हैं। सन ने कहा कि वे क्रिप्टोकरंसी इंडस्ट्री के प्रमुख लोगों को भी बफे से मिलने के लिए आमंत्रित करेंगे। इससे सभी को फायदा होने की उम्मीद है। सन ने 2017 में क्रिप्टोकरंसी ट्रॉन शुरू की थी। कॉइनमार्केटकैप डॉट कॉम के मुताबिक ट्रॉन मार्केट कैप में फिलहाल दुनिया की 11वीं बड़ी क्रिप्टोकरंसी है। इसका वैल्यूएशन 2.5 अरब डॉलर है। 

20 साल से लग रही है बफे के साथ लंच की बोली

बफे के साथ लंच के लिए बोली से मिलने वाली रकम सैन फ्रांसिस्को की दानदाता संस्था ग्लाइड फाउंडेशन को मिलेगी। इस बार बोली की रकम अब तक की सबसे ज्यादा है। पिछले 19 सालों की बोलियों के जरिए बफे ग्लाइड फाउंडेशन को 210 करोड़ रुपए दे चुके हैं।

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *