देश

10 हजार रु के लिए 2 साल की बच्ची की निर्मम हत्या, मां ने कहा- हत्यारों ने एसिड से बेटी की आंखें जलाईं

  • बच्ची 30 मई को घर के बाहर से लापता हुई, 2 जून को शव मिला; दो आरोपी गिरफ्तार
  • परिजन ने रेप के बाद हत्या की आशंका जताई थी, पुलिस ने कहा- दुष्कर्म नहीं हुआ
  • घटना के बाद देशभर में रोष, राहुल और प्रियंका गांधी ने भी दुख जताया

अलीगढ़. उत्तरप्रदेश में 10 हजार रु कर्ज के विवाद में 2 साल की बच्ची की निर्मम हत्या के बाद सोशल मीडिया पर लोग गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। घटना अलीगढ़ जिले के टप्पल की है। बच्ची का शव 2 जून को घर के पास क्षत-विक्षत हालत में कूड़े के ढेर में मिला था। उसका एक हाथ गायब था और आंखें बाहर निकली हुई थीं। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। शुक्रवार को जांच के लिए एसआईटी भी बनाई। घटना पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग, अभिनेता आयुष्मान खुराना जैसी तमाम हस्तियों ने रोष प्रकट किया है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने कहा है कि बच्ची के साथ दुष्कर्म नहीं हुआ, बल्कि गला दबाकर हत्या की गई। हालांकि, परिवार ने दुष्कर्म की आशंका जताई थी। पुलिस के मुताबिक, आरोपी जाहिद ने बच्ची के दादा से 50 हजार रुपए उधार लिए थे। इनमें से 10 हजार बकाया थे, पैसे नहीं देने पर 28 मई को जाहिद की दादा के साथ कहासुनी हुई। उसने परिवार से बदला लेने की धमकी दी थी। इसके बाद 30 मई को जाहिद ने बच्ची का अपहरण किया और हत्या कर साथी असलम की मदद से शव को ठिकाने लगाया।

रासुका और पॉक्सो एक्ट में कार्रवाई

एडीजी (कानून एवं व्यवस्था) आनंद कुमार ने बताया कि एसपी ग्रामीण के नेतृत्व में हत्या की जांच के लिए एसआईटी बनाई गई है। फॉरेंसिक टीम ने मौके से अहम सबूत जुटाए हैं। बाल अपराध से जुड़ा पॉक्सो एक्ट और राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लगाने की कार्रवाई की जा रही है। एसएसपी आकाश कुलहरि ने कहा कि आरोपी जाहिद और असलम के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई कराने का प्रयास करेंगे। घटना के बाद 5 पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया।

मां का दर्द- बेटी के साथ ऐसा क्यों किया?

बच्ची की मां ने न्यूज एजेंसी से कहा, ”एक सफाईकर्मी की सूचना पर मौके पर पहुंचे तो देखा कि बेटी के शरीर से एक हाथ गायब था, एक पैर भी टूटा हुआ था। उसकी आंखें एसिड से जलाई गई थीं। न जाने क्यों उन्होंने (आरोपियों) बेटी के साथ ऐसा किया। हम चाहते हैं कि आरोपियों को मौत की सजा मिले। नहीं तो वे 7 साल बाद जेल से छूटकर फिर ऐसा दुस्साहस करेंगे। आरोपियों के परिवार के लोगों को भी गिरफ्तारी होनी चाहिए।”

योगी के मंत्री बोले- ऐसी घटना होती रहती हैं

उत्तर प्रदेश सरकार में कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने टप्पल हत्याकांड पर कहा कि ऐसी घटनाएं होती रहती हैं। लेकिन, उसके बाद सरकार सख्ती से काम करती है। यही कारण है कि प्रदेश में अपराध का ग्राफ कम हुआ है। 

राहुल गांधी ने कहा- जघन्य हत्या से परेशान हूं

 

एक्टर और क्रिकेटरों ने भी हत्या पर दुख जताया 

 

 

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *