देश

भाजपा का तंज- प्रशांत किशोर जिस कॉलेज में अभी स्टूडेंट हैं, शाह वहां के प्रिंसिपल

  • बंगाल के लोग तृणमूल को बाहर करने का मन बना चुके, कोई रणनीतिकार इसे बदल नहीं सकता- भाजपा
  • लोकसभा चुनाव में भाजपा को बंगाल में 18 सीटें मिलीं, जबकि तृणमूल 22 सीटें जीतीं थीं

कोलकाता. राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर 2021 में पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस चीफ ममता बनर्जी के स्ट्रैटजिस्ट होंगे। इस पर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने तंज कसते हुए कहा कि किशोर जिस कॉलेज में स्टूडेंट हैं, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह वहां के प्रिंसिपल हैं। उन्होंने कहा कि बंगाल के लोगों को अब मुख्यमंत्री बनर्जी पर विश्वास नहीं रहा। इसे कोई भी चुनावी रणनीतिकार बदल नहीं सकता।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, किशोर ने गुरुवार को बंगाल की मुख्यमंत्री ममता से मुलाकात की। किशोर अब तृणमूल कांग्रेस चीफ ममता बनर्जी के स्ट्रैटजिस्ट होंगे। हालांकि, उन्होंने पिछले साल सितंबर में जदयू ज्वाइन की थी।

ममता चाहें तो और रणनीतिकार रख लें- विजयवर्गीय

विजयवर्गीय ने कहा- हमें यह हरगिज नहीं भूलना चाहिए कि पार्टी अध्यक्ष शाह से किशोर बड़े रणनीतिकार नहीं हैं। हम किशोर के रणनीतिकार बनाए जाने से बिल्कुल परेशान नहीं हैं। ममता चाहें तो और रणनीतिकार रख सकती हैं।

नीतीश ने कहा- प्रशांत के काम से हमारा वास्ता नहीं

टीएमसी और किशोर दोनों इसपर चुप्पी साधे हैं। सूत्रों का कहना है कि किशोर बंगाल में जुलाई से काम कर सकते हैं। किशोर और उनकी टीम टीएमसी का गढ़ माने जाने वाले सीटों पर हार के कारणों का पता लगाएगी। वरिष्ठ टीएमसी नेता ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि उसके बाद वह अगले विधानसभा चुनावों में पार्टी की जीत के लिए रणनीति बनाएंगे, जिसमें राज्य के विभिन्न विकास परियोजनाओं के साथ जनता तक पहुंचा जाएगा। इस बीच, जदयू प्रमुख और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा कि प्रशांत इस संबंध में खुद ही बताएंगे। हमें उनके काम से वास्ता नहीं है।

भाजपा का लक्ष्य 2021 में टीएमसी को सत्ता से उखाड़ फेंकना

भाजपा ने लोकसभा चुनाव में बंगाल की 42 लोकसभा सीटों में से 18 सीटें जीतकर शानदार प्रदर्शन किया है। टीएमसी ने 22 सीटें जीतीं हैं। लोकसभा चुनाव में अपने प्रदर्शन से भाजपा उत्साहित है। पार्टी नेता अब दावा कर रहे हैं कि उनका अगला लक्ष्य 2021 के चुनावों में टीएमसी को सत्ता से उखाड़ फेंकना है।

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *