देश

ममता का आरोप- गृह मंत्री अमित शाह भाजपा कार्यकर्ताओं को राज्य में हिंसा के लिए भड़का रहे

  • उत्तर 24 परगना में भाजपा की महिला कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या
  • भाजपा का ट्वीट- तृणमूल के गुंडों ने महिला कार्यकर्ता को गोली मारी
  • ममता बनर्जी ने कहा- भाजपा बंगाल में हिंसा फैलाने के लिए माकपा का समर्थन ले रही

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर राज्य में हिंसा भड़काने का आरोप लगाया है। ममता ने गुरुवार को कहा कि शाह हिंसा के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं को फेसबुक पर प्रोपेगैंडा चलाने के लिए भी उकसा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बंगाल में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल भी भाजपा और माकपा की साजिश है। दोनों पार्टियां हिंदू-मुस्लिम की राजनीति कर रही हैं।

इसबीच, शुक्रवार को उत्तर 24 परगना जिले के बशीरहाट में भाजपा कार्यकर्ता सरस्वती दास को गोली मारने का मामला सामने आया। बंगाल भाजपा ने ट्वीट किया, ‘बशीरहाट में तृणमूल समर्थकों ने सरस्वती दास की गोली मारकर हत्या कर दी। बंगाल में कानून व्यवस्था खत्म हो चुकी है। यहां कोई भी सुरक्षित नहीं। ममता बनर्जी खुद राज्य की गृह मंत्री हैं।’

डॉक्टरों के समर्थन में देशभर में प्रदर्शन

बंगाल में डॉक्टर अपने साथियों के साथ मारपीट का विरोध कर रहे थे। मंगलवार से शुरू हुई डॉक्टरों की हड़ताल चौथे दिन भी जारी रही। इनके समर्थन में दिल्ली, मुंबई और हैदराबाद समेत देशभर में विरोध प्रदर्शन हो रहा है। इससे स्वास्थ्य व्यवस्था भी प्रभावित हो रही। भाजपा नेता मुकुल रॉय ने आरोप लगाया है कि एक समुदाय के लोगों ने डॉक्टरों पर हमला किया। यह सभी तृणमूल से जुड़े हुए हैं।

भाजपा डॉक्टरों की हड़ताल को सांप्रदायिक रंग दे रही: सीएम

ममता गुरुवार को डॉक्टरों की हड़ताल के चलते सेठ सुखलाल करनानी मेमोरियल अस्पताल पहुंची थीं। उन्होंने हड़ताल के चलते तीन दिन बाधित हुईं मेडिकल सेवाओं का निरीक्षण किया। ममता ने कहा कि मेडिकल कॉलेज और अस्पतालों में परेशानियां बढ़ाने के लिए बाहरी लोग दाखिल हुए हैं। भाजपा हड़ताल को सांप्रदायिक रंग देना चाहती है। मरीजों के अलावा अस्पताल परिसर में किसी को न रुकने दिया जाए।

लाल बाजार मार्च में कई भाजपा के कई नेता जख्मी हुए थे

भाजपा समर्थकों ने बंगाल हिंसा में मारे गए अपने कार्यकर्ताओं के विरोध में बुधवार को लालबाजार मार्च निकाला था। समर्थकों ने कोलकाता स्थित पुलिस मुख्यालय को घेरने की कोशिश की थी। इस दौरान बैरिकेट्स तोड़ने का आरोप लगाते हुए पुलिस ने भाजपा समर्थकों पर पानी की बौछार की थी और आंसू गैस के गोले भी छोड़े थे। भाजपा का दावा है कि लाल बाजार मार्च में शामिल उनके समर्थकों पर पुलिस ने बल प्रयोग किया। इसमें मुकुल राय और प्रदेश महासचिव राजू बनर्जी समेत कई कार्यकर्ता जख्मी हो गए। रॉय और बनर्जी अस्पताल में भर्ती हैं। ममता सरकार के खिलाफ हुए इस प्रदर्शन में भाजपा के सभी 18 सांसद मौजूद थे।

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *