देश

मिग-27 क्रैश; इंजन में खराबी आई, विमान को आबादी से दूर ले गया पायलट, सुरक्षित निकला

  • मिग-27 ने बाड़मेर के उत्तरलाई एयरबेस से उड़ान भरी थी, पायलट की सूझबूझ से जान-माल का नुकसान नहीं 
  • वायुसेना के पास इस समय 44 मिग-27

जोधपुर. राजस्थान में जोधपुर के पास रविवार को वायुसेना का लड़ाकू विमान मिग-27 क्रैश हो गया। वायसेना ने बताया कि इंजन में खराबी आ गई थी। ऐसे में पायलट विमान को समय रहते आबादी से दूर ले गया। उसने खुद को सुरक्षित इजेक्ट कर लिया। उसे हेलिकॉप्टर से जोधपुर लाया गया है। क्रैश हुआ विमान अपनी नियमित अभ्यास उड़ान पर था। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि विमान में हवा में रहते ही आग लग गई थी।

विमान ने बाड़मेर से उड़ान भरी थी

एयरफोर्स के प्रवक्ता ने बताया कि मिग-27 ने रविवार को 11.45 बजे पर बाड़मेर जिले के उत्तरलाई एयरबेस से उड़ान भरी थी। इसके बाद इंजन में खराबी आ गई। लिहाजा पायलट विमान को जोधपुर से 120 किमी दक्षिण में बिना आबादी वाले इलाके में ले गया और खुद को सुरक्षित इजेक्ट कर लिया। किसी भी तरह के जान-माल का नुकसान नहीं हुआ। एयरफोर्स ने हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं। 

पहले भी हादसे का शिकार हुए मिग

वायुसेना में मिग श्रेणी के विमानों में सबसे अधिक हादसे मिग-21 और मिग-27 के ही हुए हैं। बीकानेर में 8 मार्च को भी मिग-21 क्रैश हुआ था। बीते 10 साल में एयरफोर्स विभिन्न श्रेणी के अपने 99 विमान हादसे में गंवा चुकी है।

एयर फोर्स के पास सबसे नए विमान सुखोई-30 हैं। इसके अलावा अन्य सभी विमान काफी पुराने हो चुके हैं। वहीं, सबसे अधिक मिग श्रेणी के विमान है। इनमें से मिग-21 की संख्या 112 है। जबकि 44 मिग-27 और  66 मिग-29 है। बहादुर के नाम से मशहूर मिग-27 की दो स्क्वाड्रन ही बची है और दोनों जोधपुर में ही हैं।

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *