देश

प्रशासन ने कहा- सब्जी-राशन और दवाइयां सब मिलेगा, फिर भी दुकानों पर उमड़ी भीड़, हर जगह लगीं कतारें

भोपाल/ जयपुर/ मुंबई/ पटना/ रांची. कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश में 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की। रात 8 बजे मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया। 29 मिनट के भाषण में मोदीने कहा, ‘‘हिंदुस्तान को बचाने के लिए रात 12 बजे से देश में पूरी तरह लॉकडाउन होगा। यह जनता कर्फ्यू से ज्यादा सख्त होगा। यह 21 दिन का होगा। बाहर निकलना क्या होता है, यह 21 दिन के लिए भूल जाइए।’’ मोदीकी घोषणा के बाद लोग घरों से बाहर निकलआए। सबसे ज्यादा भीड़ दवा और राशन की दुकानों पर दिखी। पढ़िए शहरों से ग्राउंड रिपोर्ट-

जयपुर: राशन की दुकानों पर उमड़ी भीड़, पुलिस ने कहा- शांति बनाए रखिए
यहां दवा, राशन की दुकानों पर भीड़ उमड़ पड़ी। हर कोई ज्यादा से ज्यादा सामान लेने की होड़ में नजर आया। एटीएम के बाहर नोटबंदी जैसी लाइन नजर आई। पेट्रोल पंप पर भी हर कोई टंकी फुल कराने की जद्दोजहद करता दिखा।वैशाली इलाके में राशन की दुकान वालों ने सामानों के रेट बढ़ा दिए। दुकानवाले स्टॉक का हवाला देते हुए 12 रु. वाला मैगी 15-20 रु. तक में बेचते हुए दिखे।पुलिस ने भी लोगों से शांति की अपील की। पुलिस ने कहा-रोजमर्रा के सामान और खाने-पीने की वस्तुओं का इंतजाम किया गया है। किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी।

पुणे: बारिश के बावजूद जरूरी सामान खरीदने उमड़े लोग

पुणे में दवा की दुकान के बाहर लगी भीड़।

21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बाद लोग बाहर निकल आए। किराना और दवाओं की दुकानों में भीड़ सी लग गई। कुछ जगहों पर लोग कतारों में लगे रहे तो कुछ स्थानों परएक-दूसरे से 1मीटर की दूरी बनाए रखी। पुणे में रात को भारी बारिश हो रही थी मगर लोग भीगते हुए दुकानोंके बाहर खड़े रहे। महाराष्ट्र खाद्य आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल ने कहा- वह किसी भी हाल में किराना या मेडिकल की दुकानों को बंद नहीं करेंगे। जरूरी चीजों की सप्लाई बाधित नहीं होगी। लोगों को पैनिक होने की कोई जरूरत नहीं है।

रायपुर: रात में मेडिकल स्टोर पर उमड़ी भीड़

रायपुर में अस्पताल के बाहर खड़े लोग।

छत्तीसगढ़ के रायपुर में पुलिस की सख्ती के चलते लोग दिनभर घरों में ही रहे। मोदी केलॉकडाउन की घोषणा से पहले ही पुलिस ने शाम पांच बजे से सभी राशन दुकानों, सब्जी की दुकानें और पेट्रोल पंप तक बंद करा दिए थे। सख्ती के साथ लोगों को घर में रहने कीचेतावनी भी जारी कर दी थी।सख्ती ज्यादा होने के चलते जरूरत के सामानों की दुकानें भी रोज की अपेक्षा कम ही खुलीं थीं। ऐसे में देश लॉकडाउन की घोषणा के बाद सिर्फ मेडिकल की दुकानों पर भीड़ नजर आई। वहीं सरकार ने कहा है कि किसी को पैनिक होने की जरूरत नहीं है।

भोपाल: पुलिस ने किराने की दुकान के बाहर से भीड़ हटवाई
दिनभर से लगे कर्फ्यू के दौरान दुकानें बंद थी और लोग भी घरों में बंद रहे, लेकिन शाम को जब प्रधानमंत्री ने घोषणा की तो लोगगलियों में किराने की दुकान में पहुंच गए। बुधवारा में दुकान खुली तो सामान लेने वालों की भीड़ लग गई। बाद में वहां पर पुलिसपहुंची और लोगों को हटाया गया।हालांकि,कहीं भी अफरा-तफरी देखने को नहीं मिली। अयोध्या नगर और उसके आसपास के स्टोर्स बंद रहे।

रांची: दुकान के बाहर लाइन में लगे लोगों को देखकर चली गई पुलिस
21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बाद रांची के अपर बाजार में दुकानों में भीड़ लग गई। भीड़ को देखकर दुकानदारों ने कीमतें बढ़ा दी। यहां सबसे ज्यादा लोग चावल खरीदने आए थे। ज्यादातर की इच्छा ज्यादा से ज्यादा राशन इकट्ठा करने की थी। पुलिस वहां आई जरूर मगर लोगों को लाइन में लगा देखकर वहां से चली गई।

पटना: भीड़ बढ़ी तो दुकानदारों नें दुकानें बंद की
मोदी की घोषणा के बाद बिहार में लोगों में अनिश्चितता का माहौल बना।प्रशासन के लगातार समझाने के बाद भी लोग नहीं माने और दुकानों में खरीदारी करने पहुंच गए। पटना के न्यू मार्केट, दीघा, राजाबाजार में दुकानदारों ने सामानों की ज्यादा कीमत मांगी तो ग्राहक भड़क गए। इसके बाद दुकानदारों ने दुकानें बंद कर दी। हालांकि, पटना डीएम कुमार रवि ने कहा- कहीं भी कालाबाजारी की खबर मिलती है तो तुरंत कंट्रोल रूम में शिकायत करें। खाद्य वस्तुओं की कमी नहीं होने दी जाएगी। ज्यादा खरीदारी की जरूरत नहीं है।

इंदौर: जनता में अफरातफरी, प्रशासन ने कहा- जरूरत की हर चीज दिलाएंगे
लॉक डाउन का ऐलान होते ही लोग जरूरत का सामान लेने के लिए बाजार में दुकानों के बाहर जमा हो गए। सब्जी की दुकानों की स्थिति यह थी कि जिन दुकानदारों की दिनभर से बिक्री नहीं हुई थी, वही रात में एक घंटे ही में उनकी पूरी सब्जी बिक गई। इंदौर कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव ने बताया है कि इंदौर में सब्जी,किराना औरदवाइयों जैसीआवश्यक वस्तुओं की दुकानें कल और आगे भी खुली रहेंगी। नागरिक धैर्य रखें।भयभीत न हों। किसी भी वस्तु की कमी नहीं होने दी जाएगी। लॉकडाउन निरंतर लागू है। अतः भीड़ एकत्रित नहीं होने दें। नागरिक भीड़ का हिस्सा नहीं बनें।

रोहतक: पेट्रोल पंप पर उमड़ी भीड़, लोगों ने ट्रैक्टर तक में तेल भरवाया
मोदी द्वारा लॉकडाउन की घोषणा करने के बाद रोहतक में सबसे ज्यादा भीड़ पेट्रोल पंपों पर नजर आई। लोग अपने वाहन लेकर पंप पर पहुंच गए। ज्यादातर लोग टंकी फुल करवाते हुए नजर आए। कुछ लोग तो ट्रैक्टर तक में तेल भरवाते हुए नजर आए। इससे पेट्रोल पंप पर लंबी कतारें लग गई। हालांकि, पानीपत में राशन की दुकानों पर हालात सामान्य नजर आए। कई जगहों पर एटीएम के बाहर भी कतारें नजर आईं।

लखनऊ:योगी ने कहा- घर तक पहुंचाएंगे दूध-सब्जी; फिर भी उमड़ी भीड़
सीएम योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया कि घर के जरूरी सामान, सब्जी, दूध, दवाएं सरकार लोगों के घरों तक पहुंचाएगी। इसके बावजूद लोग जरूरी सामान लेने के लिए दुकानों की ओर दौड़ पड़े। लखनऊ के मटियारी तिराहे पर अवस्थी किराना स्टोर पर खड़े प्रशांत का कहना है कि कल से नवरात्र भी शुरू है। जब यूपी में लॉक डाउन की घोषणा हुई थी तभी हमने 10 दिन का सामान लेकर रख दिया था, लेकिन अब 14 अप्रैल तक लॉक डाउन किया गया है इसलिए जो समान खत्म होने की कगार पर है, वह लेने आए हैं।

राज्य सरकार के आश्वासन के बाद भी लोग सामान खरीदने दुकानों पर पहुंचे।

चंडीगढ़: यहां पहले से ही कर्फ्यू लगा हुआ है, कोई हलचल नहीं
चंडीगढ़ और पंजाब में कर्फ्यू लगा हुआ है। ऐसे में इन दोनों ही जगहों पर मोदी के 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बाद कोई हलचल नहीं दिखी। दोनों जगहों दूध और जरूरी सामानकी दुकानेंसुबह खुली थी। लेकिन, दोपहर तक वह भी बंद हो गई।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

मुंबई में राशन की दुकान के बाहर लाइन लगाए खड़े लोग।
रांची में किराना दुकान के बाहर खड़े लोग।
इंदौर में किराना दुकान के बाहर ग्राहकों की लम्बी लाइन लगी।
जयपुर में सामान खरीदने के लिए अपनी बारी का इंतजार करते हुए लोग।

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *