देश

चिदंबरम के खिलाफ जांच का दायरा बढ़ा, 4 अन्य कारोबारी सौदों में भूमिका की जांच शुरू

नई दिल्ली. प्रवर्तन निदेशालय ने चिदंबरम के खिलाफ जांच का दायरा बढ़ा दिया है। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बुधवार को बताया कि आईएनएक्स मीडिया और एयरसेल-मैक्सिस के अलावा 4 अन्य कारोबारी सौदों से जुड़े विदेशी निवेश की मंजूरी में चिदंबरम की संदिग्ध भूमिका औरशेल कंपनियों द्वारा रिश्वत लेने के आरोपों की जांच की जा रही है।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, ईडी को ऐसे सबूत भी मिले हैं कि चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति को मिली कथित रिश्वत के बाद शेल कंपनी में 300 करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम जमा की गई। ईडी ने अदालत से अपील की है कि दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की इजाजत दी जाए।

इन मामलों में ईडी कर रही चिदंबरम की भूमिका की जांच
ईडी डिआजिओ स्कॉटलैंड लिमिटेड, कटारा होल्डिंग्स, एस्सार स्टीललिमिटेड, एलफोर्ज लिमिटेट से जुड़े मामलों में पी चिदंबरम की भूमिका की जांच कर रही है। चिदंबरम के वित्त मंत्री रहते हुए एफआईपीबी द्वारा गलत तरीके से क्लियरेंस दिए गए। इसके बदले में शेल कंपनियों को घूस की रकम जमा की गई। इसका इस्तेमाल चिदंबरम और कार्ति ने दो दर्जन से ज्यादा विदेशी खातों में रकम जमा करने और मलेशिया, ब्रिटेन और स्पेन जैसे देशों में अचल संपत्ति खरीदने में किया। जांच में यह भी सामने आया कि ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड स्थित फर्म से कार्ति को बहुत बड़ी रकम मिली। इस कंपनी का नाम पनामा लीक्स में भी सामने आया था।

ईडी ने जांच के दौरान दस्तावेज और हार्डवेयर सीज किए

सूत्रों ने न्यूज एजेंसी को बताया कि ईडी के पास इस बात के सबूत हैं कि शेल कंपनी के डायरेक्टर और शेयर होल्डर ने अपने सभी शेयर चिदंबरम की पोती और कार्ति की बेटी के नाम ट्रांसफर कर दिए। ईडी ने जांच के दौरान दस्तावेज, ईमेल और हार्डवेयर सीज किए हैं। जांच एजेंसी ने बताया कि छापे के दौरान इन लोगों ने पूछताछ में भी किसी तरह का सहयोग नहीं किया।

शुक्रवार को चिदंबरम की जमानत याचिका पर सुनवाई होगी
इससे पहले, सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ दायर कांग्रेस नेता पी चिदंबरम की याचिका पर तुरंत सुनवाई की मांग दूसरी बार ठुकरा दी थी। इस याचिका पर अब शुक्रवार को सुनवाई की जाएगी। हाईकोर्ट ने मंगलवार को आईएनएक्स मीडिया घोटाले में चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी। इससे पहले सीबीआई और ईडी देर रात उनकी तलाश में उनके घर गई थीं।

ईडी ने चिदंबरम के खिलाफ लुक आउट नोटिस भी जारी किया है, उसे आशंका है कि चिदंबरम विदेश जा सकते हैं। ईडी और सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि कोई भी फैसला सुनाने से पहले हमारी दलीलें भी सुनी जाएं। हाईकोर्ट के फैसले के बाद से अब तक चिदंबरम सामने नहीं आए हैं।

DBApp

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

कार्ति चिंदम्बरम और पी चिदम्बरम की फाइल फोटो

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *