देश

कुमारस्वामी ने कार्यकर्ताओं से कहा- अब किसी गठबंधन की जरूरत नहीं, मुझे सत्ता नहीं आपका प्यार चाहिए

  • पूर्व मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने कर्नाटक में कांग्रेस के साथ गठबंधन तोड़ने के संकेत दिए
  • कांग्रेस-जेडीएस ने 14 महीने तक गठबंधन सरकार चलाई, 23 जुलाई को फ्लोर टेस्ट में सरकार गिरी
  • कुमारस्वामी ने कहा- कार्यकर्ता 17 सीटों पर उपचुनाव के लिए तैयार रहें, भाजपा ज्यादा दिन सत्ता में नहीं रहेगी

Dainik Bhaskar

Aug 04, 2019, 01:32 PM IST

बेंगलुरु. कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने कांग्रेस के साथ गठबंधन तोड़ने के संकेत दिए। उन्होंने रविवार को कार्यकर्ताओं से कहा कि अब हमें किसी गठबंधन की जरूरत नहीं। मुझे सत्ता नहीं, आपका प्यार और सहयोग चाहिए। राज्य में जल्द ही 17 सीटों पर उपचुनाव या सभी 224 सीटों पर विधानसभा चुनाव हो सकते हैं। कार्यकर्ताओं को तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। भाजपा सरकार ज्यादा दिनों तक नहीं रहेगी। 23 जुलाई को फ्लोर टेस्ट के दौरान कुमारस्वामी की गठबंधन सरकार गिर गई थी।

  • कुमारस्वामी ने शनिवार कहा था, ‘‘मैं संयोग से राजनीति में आया और फिर एक्सीडेंटली सीएम बना था। ईश्वर ने मुझे दो बार मुख्यमंत्री पद संभालने का मौका दिया। मैं यहां हर किसी को संतुष्ट करने के लिए नहीं था। पिछली सरकार के 14 महीने में राज्य के विकास के लिए काम किया। इससे मैं संतुष्ट हूं।’’
  • कुमारस्वामी ने कहा था- ‘‘मैं अब शांति से परिवार के साथ रहना चाहते हैं। आज राजनीति कहां चली गई है। यह अच्छे लोगों के लिए नहीं रही। राजनीति जातिगत हो गई है। ऐसी राजनीति मेरे परिवार में मत लाओ। मुझे शांति से रहने दो। मैं अब राजनीति में नहीं रहना चाहता। मैं लोगों के दिल में जगह बनाना चाहता हूं।’’

14 महीने में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार गिरी

कुमारस्वामी ने दूसरी बार कांग्रेस के सहयोग से मुख्यमंत्री बने थे। उन्होंने 14 महीने तक कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार चलाई। लेकिन जून में दोनों पार्टियों के 16 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया। येदियुरप्पा की अगुआई में भाजपा ने इनके इस्तीफे की मांग की थी। इसके बाद कुमारस्वामी विश्वास मत प्रस्ताव लेकर आए, लेकिन चार दिन चली चर्चा के बाद सरकार का प्रस्ताव 23 जुलाई को फ्लोर टेस्ट में 99 के मुकाबले 105 मतों से गिर गया था।

बागी विधायकों ने अयोग्यता के फैसले को चुनौती दी
इसके बाद कर्नाटक में भाजपा ने सरकार बनाई और येदियुरप्पा चौथी बार मुख्यमंत्री बने। 29 जुलाई को उनके बहुमत परीक्षण से एक दिन पहले ही तत्कालीन स्पीकर रमेश कुमार ने 16 बागी विधायकों को दल बदल कानून के तहत अयोग्य घोषित कर दिया था। अब वे 2023 तक कोई चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। इन नेताओं ने अपनी अयोग्यता के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।

DBApp

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *