देश

42 से ज्यादा जवान शहीद, जम्मू-कश्मीर में सीआरपीएफ के काफिले पर बड़ा आतंकी हमला, उरी से भी बड़ा हमला

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों पर अब तक के सबसे बड़े फिदायीन हमले में वीरवार को सीआरपीएफ के 42 जवान शहीद हो गए। 20 अन्य के घायल होने की सूचना है। घटना जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर दोपहर बाद सवा तीन बजे की है। फिदायीन हमलावर ने विस्फोटक भरी कार को काफिले की बस से टकरा दिया, जिससे विस्फोट में बस के परखच्चे उड़ गए। चारो ओर बस के टुकड़े तथा मलबा पड़ा नजर आ रहा था। आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली है।

सीआरपीएफ का 78 वाहनों का काफिला 2500 जवानों को लेकर जम्मू से श्रीनगर आ रहा था। इनमें ज्यादातर अपनी छुट्टी बिताकर ड्यूटी ज्वाइन करने जा रहे थे। सामान्य तौर पर एक हजार जवान काफिला का हिस्सा होते हैं। जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर पुलवामा जिले के लेथपोरा में काफिले को निशाना बनाया गया। पुलिस के अनुसार आत्मघाती वाहन को चला रहे मानव बम की शिनाख्त कर ली गई है। वह पुलवामा जिले के काकापोर का आदिल अहमद था, जो वर्ष 2018 में आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद में शामिल हुआ था।

पुलिस के अनुसार काफिला वीरवार को सुबह साढ़े तीन बजे जम्मू से शुरू हुआ था। उम्मीद की जा रही थी कि सूर्यास्त से पहले यह काफिला श्रीनगर पहुंच जाएगा। अमूमन रोड ओपनिंग पार्टी काफिले से पहले रहती है। घटना के तुरंत बाद सेना, पुलिस और सीआरपीएफ के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटना स्थल को सील कर स्थिति का जायजा लिया। सुरक्षाबलों द्वारा आस पास के इलाकों में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान भी चलाया गया।

54 बटालियन की गाड़ी को बनाया निशाना
सीआरपीएफ के आईजी जुल्फकार हसन ने बताया कि 54 बटालियन की गाड़ी को निशाना बनाया गया, जिसमें 44 जवान सवार थे। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

फोरेंसिक टीम मौके पर
घटनास्थल पर फोरेंसिक तथा बम निरोधक दस्ते की टीम भी पहुंच गई है। पूरे इलाके को घेरकर सबूत इकट्ठा किए गए। साथ ही आस-पास के लोगों से पूछताछ भी की गई।

पूरी घाटी में अलर्ट
फिदायीन हमला होने के साथ ही पूरी घाटी में अलर्ट कर दिया गया। हाईवे पर दोनों ओर से यातायात रोक दिया गया था। सैन्य प्रतिष्ठानों तथा संवेदनशील स्थानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हाईवे सहित जगह-जगह नाके लगाकर वाहनों की चेकिंग की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *