देश

के. सिवन ने कहा- लैंडिंग से पहले के 15 मिनट चुनौतीपूर्ण, इस दौरान रहेगा सबसे ज्यादा डर

  • Hindi News
  • National
  • Chandrayaan 2: Isro Chief K Sivan says Scientists will face 15 minutes of terror on D day

  • के. सिवन ने कहा कि अगले डेढ़ महीने में यान को चंद्रमा के पास पहुंचाने के लिए 15 महत्वपूर्ण टेस्ट्स किए जाएंगे
  • उन्होंने बताया कि मिशन के लिए जीएसएलवी एमके-III का परफॉर्मेंस 15% बढ़ाया गया था

Dainik Bhaskar

Jul 22, 2019, 10:30 PM IST

श्रीहरिकोटा. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (इसरो) ने सोमवार को चंद्रयान-2 को सफलतापूर्वक लॉन्च किया। इसरो के चेयरमैन के. सिवन ने इस मौके पर कहा कि अगले एक से डेढ़ महीने में चंद्रयान-2  को चंद्रमा के पास पहुंचाने के दौरान 15 अहम टेस्ट्स किए जाएंगे। इसके बाद दक्षिणी ध्रुव पर लैंडिंग का समय सबसे चुनौतीपूर्ण होगा। आखिर के 15 मिनट में सुरक्षित लैंडिंग कराने के दौरान हम सबसे ज्यादा भय अनुभव करेंगे।

‘लाॅन्च व्हीकल की क्षमता बढ़ाकर उसे बेहतर किया’

  1. सिवन ने कहा कि रॉकेट ने सैटेलाइट को तय कक्षा से बेहतर कक्षा में स्थापित किया है। जो कुछ भी सैटेलाइट टीम मंगलवार को करना चाहती थी, वह लॉन्च व्हीकल ने आज ही कर दिया। इसलिए अभी की टेस्टिंग हमारे लिए बोनस जैसी होगी। इससे सैटेलाइट का भी ज्यादा ईंधन बचेगा। 

  2. उन्होंने कहा कि मिशन के लिए जीएसएलवी एमके-III लॉन्च व्हीकल का परफॉर्मेंस भी 15% बढ़ाया गया था। इससे यह चार टन तक के पेलोड को जियोसिन्क्रोनस ट्रांसफर ऑरबिट तक ले जाने की क्षमता वाला बन गया। सिवन ने मिशन की तकनीकी खामियां दूर करने के लिए भी इसरो टीम की तारीफ की। 

  3. सिवन ने कहा कि 15 जुलाई को लॉन्चिंग व्हीकल में गंभीर खराबी आ गई थी। लेकिन हमने इसे ठीक कर लिया। 24 घंटे में जो काम हुए वो दिमाग हिलाने वाले थे। व्हीकल की खराबी को पहचान कर ठीक किया गया और सामान्य स्थिति में लाया गया। अगले डेढ़ दिन में भी कुछ जरूरी टेस्ट्स किए जाएंगे। इससे यह तय होगा कि सभी खराबियां ठीक हो गईं और मिशन सही दिशा में है। इसरो अपने रंग में लौट चुका है। 

  4. ‘एक्सपर्ट टीम को मेरा सैल्यूट’

    इसरो के स्टाफ की तारीफ करते हुए सिवन ने कहा कि इंजीनियरों, टेक्निशियनों और सपोर्ट स्टाफ ने अपने परिवारों को भूलकर मिशन की कमियों को दूर करने का काम किया। एक्सपर्ट टीम पिछले सात दिनों से काम कर रही थी, ताकि हर सिस्टम बेहतर ढंग से काम करे। उन्हें सैल्यूट करना मेरी जिम्मेदारी है।

‘);$(‘#showallcoment_’+storyid).show();(function(){var dbc=document.createElement(‘script’);dbc.type=’text/javascript’;dbc.async=false;dbc.src=’https://i10.dainikbhaskar.com/DBComment/bhaskar/com-changes/feedback_bhaskar.js?vm15′;var s=document.getElementsByTagName(‘script’)[0];s.parentNode.insertBefore(dbc,s);dbc.onload=function(){setTimeout(function(){callSticky(‘.col-8′,’.col-4′);},2000);}})();}else{$(‘#showallcoment_’+storyid).toggle();callSticky(‘.col-8′,’.col-4′);}}

Recommended News

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *