देश

उमर ने कहा- कश्मीर में अलग वजीर-ए-आजम होगा, मोदी ने पूछा- क्या विपक्ष की यही राय है?

  • उमर अब्दुल्ला ने बांदीपोरा में रैली के दौरान कहा- जम्मू-कश्मीर रियासत सशर्त भारत में शामिल हुई थी
  • मोदी ने कहा- कांग्रेस जवाब दे कि उनके सहयोगी दल की ऐसा बोलने की हिम्मत कैसे हुई

श्रीनगर/हैदराबाद. नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने सोमवार को बांदीपोरा में रैली के दौरान कहा कि बाकी रियासतें भारत में बिना शर्त के शामिल हुई थीं। जबकि हमने (जम्मू-कश्मीर) कहा, हमारी अलग पहचान होगी, अपना संविधान होगा। हमने उस वक्त सरदार-ए-रियासत और वजीर-ए-आजम भी रखा था, इंशाअल्लाह उनको भी हम वापस ले आएंगे।

जेटली ने धारा 370 हटाने की धमकी दी- अब्दुल्ला
आज हमारे ऊपर तरह-तरह के हमले हो रहे हैं। साजिशें रची जा रही हैं। बड़ी-बड़ी ताकतें लगी हैं कश्मीर की पहचान मिटाने में। 370 हटाने की बात कही जाती है। हाल ही में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने धमकी दी, कश्मीर से 35ए और धारा 370 हटाने का काम होगा। हम भारत में मुफ्त में नहीं आए। हमने कई शर्तें दर्ज कराईं। हमारा झंडा अपना होगा। हमने अपनी पहचान बनाई रखी। लेकिन ये लोग हमें अन्य रियासतों की तरह समझ रहे हैं। 

कांग्रेस जवाब दे कि उनके सहयोगी दल कैसे ऐसी बाते कर रहे- मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उमर अब्दुल्ला के इस बयान को लेकर कांग्रेस से जवाब मांगा। मोदी ने तेलंगाना में रैली के दौरान कहा, कांग्रेस के एक बड़े सहयोगी दल नेशनल कॉन्फ्रेंस ने जवाब दिया है कि कश्मीर में अलग प्रधानमंत्री होना चाहिए। मोदी ने पूछा, ”हिंदुस्तान में दो प्रधानमंत्री? क्या आप इससे सहमत हैं। कांग्रेस और महागठबंधन को इसपर जवाब देना चाहिए। क्या वजह है कि ऐसा कहने की उनकी हिम्मत हुई।”

मोदी ने कहा कि वे बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा, आंध्र के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर नायडू और शरद पवार से पूछना चाहते हैं क्या वे उमर अब्दुल्ला के बयान से सहमत हैं।

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *