देश

प्रियंका का मोदी पर पलटवार- आखिरी चरण जीएसटी-नोटबंदी और अपने वादों पर लड़कर दिखाएं

  • मोदी ने झारखंड में चुनौती दी थी कि कांग्रेस आखिरी चरण राजीव गांधी के नाम पर लड़े
  • प्रियंका ने बुधवार को दिल्ली में शीला दीक्षित के समर्थन में रोड शो किया
  • केजरीवाल ने प्रियंका गांधी के दिल्ली में रोड शो को लेकर कहा कि वे यहां अपना वक्त बर्बाद कर रहीं 

नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार को उत्तर पूर्वी दिल्ली से कांग्रेस प्रत्याशी शीला दीक्षित के समर्थन में रोड शो किया। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनौती पर पलटवार किया। उन्होंने कहा, ”ये दिल्ली की लड़की खुली चुनौती दे रही है। चुनाव के आखिरी दो चरण नोटबंदी, जीएसटी, महिलाओं की सुरक्षा पर लड़िए। आपने जो पूरे देश के नौजवानों से झूठे वादे किए, धोखा दिया उन वादों पर लड़िए।” दरअसल, मोदी ने झारखंड में कांग्रेस को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के मान-सम्मान पर आखिरी दो चरण लड़ने की चुनौती दी थी।
 

शीला दीक्षित के खिलाफ मनोज तिवारी मैदान में 

दिल्ली की सातों सीटों पर 12 मई को मतदान होना है। भाजपा ने इस सीट से मौजूदा सांसद मनोज तिवारी और आप ने दिलीप पांडे को टिकट दिया है।

बॉक्सर विजेंदर के समर्थन में भी रोड शो करेंगी प्रियंका

प्रियंका गांधी बुधवार देर शाम दक्षिण दिल्ली से प्रत्याशी बॉक्सर विजेंदर के समर्थन में रोड शो करेंगी। भाजपा ने यहां से मौजूदा सांसद रमेश बिधूड़ी और आप ने राघव चड्ढ़ा को उतारा है।

दिल्ली में वक्त बर्बाद कर रहीं हैं प्रियंका- केजरीवाल
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रियंका गांधी के दिल्ली में रोड शो को लेकर कहा कि वे यहां अपना वक्त बर्बाद कर रहीं हैं। वे राजस्थान और मध्यप्रदेश में क्यों प्रचार नहीं कर रहीं? प्रियंका उत्तरप्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन और दिल्ली में आम आदमी पार्टी के खिलाफ रैलियां करती हैं। भाई (राहुल)-बहन (प्रियंका) ऐसी जगहों पर नहीं जाते, जहां उनकी टक्कर सीधे भाजपा से हो।

कांग्रेस बोफोर्स के आरोपी पूर्व प्रधानमंत्री के नाम पर लड़े चुनाव- मोदी
मोदी ने कहा था, ”चुनाव के दो चरण बाकी हैं और मैं पूरी कांग्रेस पार्टी, नामदार के परिवार और उनके रागदरबारियों, चेले चपाटों को चुनौती देता हूं कि अगर हिम्मत है तो पूर्व प्रधानमंत्री, जिन पर बोफोर्स के आरोप हैं, उनके मान-सम्मान के मुद्दे पर आइए मैदान पर। इस मुद्दे पर दिल्ली-पंजाब में चुनाव लड़ते हैं। भोपाल में हजारों लोग गैस लीक में मर गए थे और उस समय के प्रधानमंत्री ने जो काम किया था वह सामने आ जाएगा।”

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *