देश

थरूर ने शेर पोस्ट कर उसे ग़ालिब का बताया, अख्तर ने कहा- जिसने भी लाइनें दीं, वह यकीन लायक नहीं

  • मिर्जा ग़ालिब का जन्मदिन 27 दिसंबर को होता है, थरूर ने 21 जुलाई को ग़ालिब की 220वीं जयंती बताई
  • थरूर ने कहा- मुझे गलत जानकारी दी गई, मैं माफी चाहता हूं

Dainik Bhaskar

Jul 21, 2019, 07:17 PM IST

नई दिल्ली. कांग्रेस नेता शशि थरूर के एक गलत ट्वीट को लेखक और गीतकार जावेद अख्तर ने सुधारा। दरअसल, शशि थरूर ने एक ट्वीट कर बताया कि आज मशहूर शायर मिर्जा ग़ालिब की 220वीं जयंती है। उन्होंने कुछ पंक्तियां भी शेयर कीं और उन्हें भी ग़ालिब का बताया। इस पर जावेद अख्तर ने ट्वीट किया कि जिस भी शख्स ने आपको ये लाइनें ग़ालिब की बताकर दी हैं, वह यकीन लायक नहीं है। ग़ालिब का जन्मदिन 27 दिसंबर को होता है और थरूर ने 21 जुलाई को यह ट्वीट किया।

gg

जावेद अख्तर ने लिखा- जिस भी शख्स ने आपको ये लाइनें दी हैं, उस पर दोबारा भरोसा कतई नहीं किया जाना चाहिए। यह स्वाभाविक है कि किसी ने आपकी पोस्ट में ये लाइनें डाल दी हों। लेकिन, ऐसा करके उसने आपकी बौद्धिक विश्वसनीयता को नुकसान पहुंचाया है। 

अख्तर ने कुछ और यूजर्स की पोस्ट पर भी इसी तरह की प्रतिक्रिया दी। इन यूजर्स ने कुछ पंक्तियों को ग़ालिब का बताकर शेयर किया था। 

थरूर का जवाब- शुक्रिया जावेदजी

शशि थरूर ने जवाब दिया- ग़ालिब सभी के फेवरेट हैं। लेकिन, आज उनका जन्मदिन नहीं है। मुझे गलत जानकारी दी गई थी फिर भी इन लाइनों का लुत्फ उठाइए। जावेदजी और दूसरे मित्रों का शुक्रिया, यह अहसास दिलाने के लिए कि मैंने क्या किया था। जिस तरह से हर उद्धरण को विन्स्टन चर्चिल के नाम समर्पित कर दिया जाता है, उसी तरह लगता है कि जब लोग शायरी को पसंद करते हैं तो वे उसका श्रेय ग़ालिब को दे देत हैं। मैं माफी मांगता हूं। 

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *