अन्य

दिल्ली, बेंगलुरु, हैदराबाद के थोक बाजारों में टमाटर की कीमत 3 साल के निचले स्तर पर, 4-10 रुपए प्रति किलो के भाव बिक रहा

दिल्ली, बेंगलुरु और हैदराबाद की थोक मंडियों में टमाटर की कीमत गिरकर 3 साल के निचले स्तर पर आ गई है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक इन मंडियों में यह फसल शुक्रवार को 4-10 रुपए प्रति किलाग्राम के भाव पर बिका। दिल्ली के आजादपुर थोक मंडी में पिछले साल22 मई को टमाटर का भाव 14.30 रुपए प्रति किलोग्राम था। वहीं, हैदराबाद व बेंगलुरु में इसकी कीमत 30 रुपए थी।

लॉकडाउन में मांग से अधिक आपूर्ति होने से गिरी टमाटर की कीमत
विशेषज्ञों के मुताबिक लॉकडाउन के बीच अधिक आपूर्ति और कम मांग के कारण टमाटर की कीमत गिर गई है। साथ ही तेजी से सड़ने वाले सब्जी को सुगम ढुलाई सुविधा नहीं मिल पाने के कारण भी इसकी कीमत में तेजी से गिरावट आई है। खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक आजादपुर मंडी में वर्तमान आदर्श भाव करीब 440 रुपए प्रति क्विंटल है। पिछले साल यह भाव 1,258 रुपए प्रति क्विंटल था। दिल्ली में हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान से टमाटर की आपूर्ति होती है।

हैदराबाद के बोवनपल्ली थोक मंडी में टमाटर कीमत शुक्रवार को 5 रुपए प्रति किलोग्राम थी
हैदराबाद के बोवनपल्ली थोक मंडी में टमाटर कीमत शुक्रवार को करीब 5 रुपए प्रति किलोग्राम रही। एक साल पहले यह 34 रुपए थी। इसी तरह से बेंगलुरु में टमाटर की थोक कीमत शुक्रवार को 10 रुपए प्रतिकिलोग्राम रही। जो एक साल पहले 30 रुपए पर थी।

40 जिलों के टमाटर क्लस्टर में टमाटर की कीमत 3 साल के मौसमी औसत के नीचे
मार्केट लिंकेज देने के लिए खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय52 जिलों को ट्र्रैक करता है। इनमें से 40 में टमाटर पैदा करने वाले क्षेत्रों में टमाटर की कीमत 3 साल के मौसमी औसत के नीचे चल रही है। बाजार से सीधे लिंकिंग के लिए पहचाने गए 12 क्लस्टर्स में भी टमाटर की कीमत 3 साल के औसत से नीचे चल रही है। उदाहरण के लिए कर्नाटक के कोला जिले के 5 टमाटर क्लस्टर में गुणवत्ता के आधार पर टमाटर की कीमत 3-8 रुपए प्रति किलोग्राम पर चल रही है। एक साल पहले यह कीमत 14-35 रुपए प्रति किलोग्राम थी।

आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में टमाटर की पैदावार देश में सबसे ज्यादा होती है
आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले के 5 क्लस्टर्स और ओडशा के दो क्लस्टर्स में भी कीमत में इसी प्रकार की गिरावट आई है। आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में टमाटर की पैदावार देश में सबसे ज्यादा होती है। इस साल दोनों राज्यों में कुल 42 लाख टन टमाटर पैदा होने की उम्मीद है। देश में टमाटर की सालाना मांग 111 लाखटन की है। इसकी आपूर्ति घरेलू उत्पादन से ही हो जाती है। मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 2019-20 फसल सत्र (जुलाई-जून) में देश में 193.28 लाख टन टमाटर का उत्पादन होने का अनुमान है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

दिल्ली के आजादपुर थोक मंडी में पिछले साल22 मई को टमाटर का भाव 14.30 रुपए प्रति किलोग्राम था। वहीं, हैदराबाद व बेंगलुरु में इसकी कीमत 30 रुपए थी

Source: bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *