खेल

भारतीय क्रिकेट टीम ने लगातार तीसरे साल आईसीसी टेस्ट चैम्पियशिप की गदा जीती

विज्ञापन

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2019, 05:03 PM IST

  • comment

  • टेस्ट रैंकिंग में एक अप्रैल तक पहले स्थान पर रहने वाली टीम को गदा मिलती है
  • टीम इंडिया टेस्ट रैंकिंग में पहले स्थान पर रही, टीम के 116 रेटिंग अंक

खेल डेस्क. भारतीय क्रिकेट टीम ने लगातार तीसरे साल आईसीसी टेस्ट चैम्पियशिप की गदा अपने नाम किया। यह गदा उस टीम को दी जाती है जो एक अप्रैल की कट ऑफ तारीख तक टेस्ट रैंकिंग में नंबर-1 स्थान पर रहती है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी। कप्तान विराट कोहली के नेतृत्व में इस साल टेस्ट में बेहतर प्रदर्शन किया। पहली बार ऑस्ट्रेलिया से उसकी धरती पर टेस्ट सीरीज जीती थी।

भारत को 6.92 करोड़ रुपए इनाम में मिलेंगे

  1. भारतीय टीम 116 रेटिंग अंक के साथ पहले स्थान पर है। वहीं, दूसरे स्थान पर न्यूजीलैंड की टीम है। उसके 108 रेटिंग अंक है। भारत को पहले स्थान पर रहने के लिए 6.92 करोड़ रुपए (10 लाख डॉलर) की इनामी राशि दी जाएगी। न्यूजीलैंड को 3.46 करोड़ रुपए (पांच लाख डॉलर) की इनामी राशि मिलेगी।

  2. कप्तान विराट कोहली ने गदा जीतने पर कहा, “आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप गदा को अपने पास बनाए रखने पर हम बहुत खुश हैं। हमारी टीम ने खेल के हर प्रारुप में बेहतर प्रदर्शन किया है। हम जानते हैं कि टेस्ट क्रिकेट की क्या अहमियत है। हम टेस्ट चैम्पियनशिप में अच्छा प्रदर्शन करेंगे।”

  3. आईसीसी टेस्ट रैंकिंग

    रैंक टीम

    रेटिंग अंक

    1 भारत 116
    2 न्यूजीलैंड 108
    3 दक्षिण अफ्रीका 105
    4 ऑस्ट्रेलिया  104
    5 इंग्लैंड 104
    6 श्रीलंका 93
    7 पाकिस्तान 88
    8 वेस्टइंडीज 77
    9 बांग्लादेश 68
    10 जिम्बाब्वे 13

Astrology

Recommended

`; $(‘ul.reco_data’).append(vli); }); } $.each(recstory,function(k,story){ if(relCount > 5){ return false; } var href=story.url; var shareUrl = href.split(‘?’)[0]; if(cr_Story !=story.story_id && rel_Story.indexOf(story.story_id) == -1 && rcoStoryArr.indexOf(story.story_id) == -1){ rcoStoryArr.push(story.story_id); var image = story.image.replace(“/500×250/”,”/190×150/”); image = image.replace(“300×225″,”190×150”); var vicon = story.flag_v == 1 ? ‘‘ : ”; var slug =”; if(story.template_type != ‘normal’ && story.template_type != ‘photo’ && story.iitl_title != ”){ slug = ‘‘+story.iitl_title+’ / ‘; } if(!$(‘#nextStory’).html() && $devicIssue==”mobile” && i == 0){ $(‘#nextStory’).html(`

Next Story

${slug+story.title}

`); }else{ li +=`

  • ${story.title}${vicon}

  • `; } relCount++; i++; } }); $(‘ul.reco_data’).append(li); var mysldnn = $(‘.reco_data’).bxSlider({minSlides:1,hideControlOnEnd:true ,touchEnabled:true,maxSlides:4,slideWidth:183,moveSlides:1,slideMargin:14,pager:false,controls:true,infiniteLoop:true,}); setTimeout(function(){ mysldnn.reloadSlider( {minSlides:1,hideControlOnEnd:true ,touchEnabled:true,maxSlides:4,slideWidth:183,moveSlides:1,slideMargin:14,pager:false,controls:true,infiniteLoop:true,} ); },2000); if(recoFlag == ” && relCount

    Source: bhaskar.com

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *