खेल

सौरभ घोषाल वर्ल्ड रैंकिंग में 10वें नंबर पर, टॉप-10 में जगह बनाने वाले भारतीय पुरुष

विज्ञापन

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2019, 06:28 PM IST

  • comment

  • मेन्स प्रोफेशनल स्क्वैश एसोसिएशन (पीएसए) वर्ल्ड रैंकिंग सोमवार को जारी
  • घोषाल से पहले महिलाओं में दीपिका और जोशना टॉप-10 में शामिल हो चुकीं हैं

खेल डेस्क. भारतीय स्क्वैश खिलाड़ी सौरभ घोषाल वर्ल्ड रैंकिंग में 10वें नंबर पर पहुंच गए हैं। इसके साथ ही वे टॉप-10 पुरुष खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल होने वाले पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी भी बन गए। मेन्स प्रोफेशनल स्क्वैश एसोसिएशन (पीएसए) वर्ल्ड रैंकिंग सोमवार को जारी की गई। घोषाल से पहले महिला खिलाड़ियों में दीपिका पल्लीकल और जोशना चिनप्पा टॉप-10 में शामिल हो चुकीं हैं।

घोषाल ने 2014 एशियन गेम्स में स्वर्ण पदक जीता था

  1. घोषाल के लिए पिछला महीना शानदार रहा। उन्होंने पहली बार पीएसए विश्व चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। वे स्विट्जरलैंड में हुए ग्रासहॉपर कप के क्वार्टर फाइनल में भी पहुंचे थे। घोषाल ने 2014 एशियन गेम्स में स्वर्ण पदक जीता था।

  2. मिस्र के वर्ल्ड चैम्पियन खिलाड़ी अली फराग पहले स्थान पर काबिज हैं। उनके ही देश के मोहम्मद अल-शोरबागी दूसरे स्थान और तारीक मोमेन तीसरे स्थान पर कायम हैं। न्यूजीलैंड के पॉल कोल पांचवें स्थान पर पहुंच गए हैं। यह उनके करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग है। जर्मनी के सिमोन रोसनर चौथी रैंक पर हैं।

  3. महिलाओं की रैंकिंग में जोशना चिनप्पा 15वें स्थान पर काबिज हैं। वे देश की टॉप महिला स्क्वैश खिलाड़ी हैं। जोशना 2010 में टॉप-10 में शामिल हुईं थीं। 2012 और 2014 में दीपिका पल्लीकल भी टॉप-10 में जगह बनाने में कामयाब हुईं थीं।

Astrology

Recommended

`; $(‘ul.reco_data’).append(vli); }); } $.each(recstory,function(k,story){ if(relCount > 5){ return false; } var href=story.url; var shareUrl = href.split(‘?’)[0]; if(cr_Story !=story.story_id && rel_Story.indexOf(story.story_id) == -1 && rcoStoryArr.indexOf(story.story_id) == -1){ rcoStoryArr.push(story.story_id); var image = story.image.replace(“/500×250/”,”/190×150/”); image = image.replace(“300×225″,”190×150”); var vicon = story.flag_v == 1 ? ‘‘ : ”; var slug =”; if(story.template_type != ‘normal’ && story.template_type != ‘photo’ && story.iitl_title != ”){ slug = ‘‘+story.iitl_title+’ / ‘; } if(!$(‘#nextStory’).html() && $devicIssue==”mobile” && i == 0){ $(‘#nextStory’).html(`

Next Story

${slug+story.title}

`); }else{ li +=`

  • ${story.title}${vicon}

  • `; } relCount++; i++; } }); $(‘ul.reco_data’).append(li); var mysldnn = $(‘.reco_data’).bxSlider({minSlides:1,hideControlOnEnd:true ,touchEnabled:true,maxSlides:4,slideWidth:183,moveSlides:1,slideMargin:14,pager:false,controls:true,infiniteLoop:true,}); setTimeout(function(){ mysldnn.reloadSlider( {minSlides:1,hideControlOnEnd:true ,touchEnabled:true,maxSlides:4,slideWidth:183,moveSlides:1,slideMargin:14,pager:false,controls:true,infiniteLoop:true,} ); },2000); if(recoFlag == ” && relCount

    Source: bhaskar.com

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *